Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana (PMFBY) Online Apply | प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना: ऑनलाइन फॉर्म

PM Fasal Bima Yojana 2022 | Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2022 Apply Online | प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना Form Download | प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऑनलाइन फॉर्म

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana के तहत देश के किसानों को किसी भी प्राकृतिक आपदा के कारण फसल में बर्बादी होने पर किसानों को उनकी फसल के पैसे दिए जाते हैं। अगर आप भी इस योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो PM Fasal Bima Yojana की वेबसाइट पर जाना होगा। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY) की शुरुआत 2016-17 में हुई थी। इस योजना का मकसद है किसानों तक योजना का लाभ उचित तरीके से और समय पर पहुंचाना। PM Fasal Bima Yojana के तहत खाने की फसलें (जैसे दालें, अनाज आदि), तिलहन फसलें, गन्ना, कपास और आलू आदि फसलें कवर होती हैं। साथ ही आपको बता दे की इस योजना के तहत किसानों को 2 लाख तक का बीमा कवर दिया जायेगा। आपको बता दे की भारतीय बीमा कंपनी द्वारा इसे संचालित किया जाता है। और यह वन नेशन-वन स्कीम है।

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana

प्रधान मंत्री Narendra Modi द्वारा 18 फरवरी 2016 को शुरू की गई Pradhan Mantri fasal bima yojana (PMFBY) किसानों के लिए उनकी उपज के लिए एक बीमा सेवा है। इसे पहले की दो योजनाओं National Agricultural Insurance Scheme (NAIS) और संशोधित National Agricultural Insurance Scheme (MNAIS को उनकी सर्वोत्तम विशेषताओं को शामिल करके और उनकी अंतर्निहित कमियों को दूर करके एक One Nation–One Scheme थीम के अनुरूप तैयार किया गया था। इसका उद्देश्य किसानों पर प्रीमियम का बोझ कम करना और पूर्ण बीमा राशि के लिए फसल आश्वासन दावे का शीघ्र निपटान सुनिश्चित करना है।

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana Objective

PMFBY का उद्देश्य फसल की विफलता के खिलाफ एक व्यापक बीमा कवर प्रदान करना है जिससे किसानों की आय को स्थिर करने में मदद मिलती है। इस योजना में सभी खाद्य और तिलहन फसलों और वार्षिक वाणिज्यिक/बागवानी फसलों को शामिल किया गया है, जिनके लिए पिछले उपज डेटा उपलब्ध है, और जिसके लिए सामान्य फसल अनुमान सर्वेक्षण (जीसीईएस) के तहत अपेक्षित संख्या में फसल कटाई प्रयोग (सीसीई) किए जा रहे हैं। यह योजना कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा प्रशासित की जा रही है। साथ ही आपको यह भी बता दे की या योजना Bharat Pm Yojana के अंतर्गत सुरु की गए है।

PM Fasal Bima Yojana के लाभ और विशेषताएं

  • इस योजना के तहत भारी प्राकृतिक आपदा, बाढ़, तूफान, तेज आंधी और बारिश आदि प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल खराब होने की स्थिति में किसानों को बीमा राशि दी जाती है।
  • किसानो को अपनी फसल का कुछ प्रतिशत insurance company को देना होता है, जिसमें उन्हें खरीफ की फसल का 2% और रबी की फसल का 1.5% का भुगतान करना होगा ताकि भविष्य में प्राकृतिक आपदा से उनकी फसल बर्बाद होने पर उन्हें 2,00,000 तक की बीमा राशि मिल सके।
  • भारतीय बीमा कंपनी Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana का संचालन करती है।
  • किसान की फसल खराब होने पर 15 दिन के भीतर बिमा क्लेम की राशि किसान के खाते में डाल दी जाती है।
  • PM Fasal Bima Yojana का आवेदन Online और Offline दोनों माध्यम से किया जा सकता है।
  • ऑनलाइन आवेदन करने से किसानों का समय और पैसा दोनों बचेगा।
  • हर साल 5.5 लाख से अधिक किसान इस योजना के लिए आवेदन करते हैं। यदि किसान की फसल को किसी प्रकार का नुकसान होता है तो वह किसान 72 घंटे के भीतर हेल्पलाइन नंबर पर कॉल कर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते है।
  • अगर किसी व्यक्ति द्वारा फसल को नष्ट या बर्बाद कर दिया जाता है, तो वह किसान इस योजना का लाभ नहीं उठा पाएगा।
  • इस योजना के तहत किसानों को 2 लाख तक का बीमा कवर दिया जाएगा।
  • PMFBY के तहत किसानों को 90000 हजार करोड़ तक की क्लेम राशि दी गई है।
Also Read
* PM Kisan eKYC Registration 2021-22
* Prime Minister Street Vendor’s AtmaNirbhar Nidhi Scheme
* प्रधानमंत्री लघु व्यपारी मानधन योजना
*
PM Ujjwala Yojana 2.0 Apply Online

Eligibility for PM Fasal Bima Yojana | पीएम फसल बीमा योजना हेतु पात्रता

  • देश में रहने वाले सभी किसान Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana का लाभ ले सकेंगे।
  • किसान अपने खेती के साथ-साथ किराये से ली गई खेती का बीमा भी करवा सकते हैं।
  • कोई भी किसान जो किसी नए बीमा का लाभार्थी नहीं है, उसे इस बिमा के लिए पात्र माना जाएगा।
  • यदि किसी मनुष्य द्वारा फसल को नष्ट की जाती है तो वह इस बीमा कवर राशि लेने के लिए पात्र नहीं माना जाएगा।

Which Documents Will be Required? | किन दस्तावेजों की होगी जरूरत?

अगर आप भी PMFBY का लाभ उठाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको निम्न दस्तावेजों की जरुरत होगी।

  1. ID Proof किसान की एक फोटो, आईडी कार्ड (आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी कार्ड, पैन कार्ड)
  2. Address Proof | पते का प्रमाण पत्र
  3. खेत का खसरा नंबर आदि चाहिए।
  4. इसके साथ ही किसान को सरपंच या पटवारी से खेत में बुआई होने से संबंधित एक पत्र भी लगाना होता है।
  5. अगर किसान अपने खेत में खेती नहीं कर रहा है तो उसे खेत मालिक के साथ हुए करार की कॉपी की फोटोकॉपी देनी होती है। इस पेपर में खेत का खाता/ खसरा नंबर साफ तौर पर लिखा होना चाहिए।
  6. फसल को नुकसान होने की स्थिति में आपके बैंक खाते में रकम पाने के लिए एक रद्द चेक लगाना जरूरी है।

PM Fasal Bima Yojana के लिए कितना लगेगा प्रीमियम और कितना मिलेगा बीमा?

  • इस योजना के तहत किसानों को खरीफ फसल का 2.5-3.5 फीसदी और रबी फसल का 1.5-2 फीसदी भुगतान बीमा कंपनी को करना होता है, जिस पर उन्हें बीमा दिया जाता है।
  • अगर आप कमर्शियल खेती करते हैं तो आपके लिए बीमा का प्रीमियम अलग होगा।
  • खेत में फसल की बुआई के 10 दिनों के अंदर आपको PMFBY का form भरना जरूरी है।
  • फसल काटने से लेकर तैयार करने के 14 दिनों के बीच अगर आपकी फसल को प्राकृतिक आपदा के कारण नुकसान होता है, तब भी आप PM Fasal Bima Yojana का लाभ उठा सकते हैं।

पीएम फसल बीमा योजना साल 2021-22 Budget

किसानों को भारी नुकसान से बचाने के लिए सरकार ने PM Fasal Bima Yojan शुरू की है, जिससे किसानों को फसलों के नुकसान पर बीमा कवर दिया जाएगा, इसके तहत सरकार ने वर्ष 2021-22 के लिए16000 करोड़ रुपये के बजट की घोषणा की है। इसमें किसान के खेत में बुवाई से लेकर कटाई तक के समय का बीमा होगा। अगर कोई प्राकृतिक नुकसान होता है, तो उसकी भरपाई बीमा कंपनी करेगी। ताकि किसानों को किसी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े और वे परिवार का अच्छे से पालन-पोषण कर सकें। 84% सीमांत (छोटे) किसान योजना में आवेदन करते हैं।

How to Apply Pradhan Mantri फसल बीमा योजना

  • Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आवेदक को सबसे पहले इसकी official website पर जाना है।
  • यहाँ आपको इस तरह का होम पेज दिखाई देगा।
Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana Online Registration
Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana Online Registration
  • होम पेज पर आप दिए गए विकल्पों में से फार्मर कार्नर के ऑप्शन पर क्लिक कर दें।
Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana
Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana
  • इसके बाद आप गेस्ट फार्मर के ऑप्शन पर क्लिक करें। अगर अपने पहले से Registration करा लिया तो आप लॉगिन फॉर फार्मर के ऑप्शन पर क्लिक कर सकते है।
PM Fasal Bima Panjikaran Karne Ki Parkriya
PM Fasal Bima Panjikaran Karne Ki Parkriya
  • अब आप अगले पेज पर रजिस्टर ऑफ़ न्यू फार्मर यूजर फॉर्म में पूछी गयी जानकारी जैसे: अपना नाम, पिता-पति का नाम, आयु, लिंग, फार्मर टाइप, मोबाइल नंबर, जिला, स्टेट पता, पिनकोड, बैंक डिटेल्स और कैप्चा कोड आदि को भर दें।
Online Awedan Fasal Bima Scheme
Online Awedan Fasal Bima Scheme
  • सभी जानकारी भरने के बाद आप क्रिएट यूजर के ऑप्शन पर क्लिक कर दें।
  • जिसके बाद आपकी रजिस्ट्रेशन प्रोसेस पूरी हो जाएगी।

PMFBY के लिए ऑफलाइन आवेदन ऐसे करें?

  1. offline आवेदन करने के लिए आपको सबसे पहले insurance company के पास जाना पड़ेगा।
  2. यहाँ आपको PMFBY का आवेदन फॉर्म लेना होगा।
  3. अब आपको फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारियों को सही से भरना होगा।
  4. आप आपको फॉर्म में मांगे गए सभी दस्तावेजों की फोटोकॉपी अटैच करने होगी।
  5. फॉर्म को अच्छे से भरने के बाद एक बार दोबारा पढ़ ले।
  6. अब आप इसे कृषि विभाग में जमा करवा दें।
  7. फॉर्म जमा करने के बाद हर महीने आपकी बीमा की किश्त आपके खाते से काट ली जाएगी।
  8. अब आपको रेफ़्रेन्स नंबर दिया जायेगा जिसके बाद आप इसकी आवेदन स्थिति देख पाएंगे।

CHECK PM Fasal Bima Yojana APPLICATION FORM STATUS

यदि आप application form का status जानना चाहते है तो आपको दिए गए steps को फॉलो करना है।

  • आपको सबसे पहले प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की official website पर जाना है।
  • यहाँ आपके सामने home page खुल जायेगा।
  • होम पेज पर आपको Application Status के option पर क्लिक करना है।
pm fasal bima scheme awedan isthiti jaane
pm fasal bima scheme awedan isthiti jaane
  • क्लिक करते ही आपके सामने अगला पेज खुल कर आ जायेगा।
  • अगले पेज पर आपको receipt number और कैप्चा कोड भरना होगा।
pardhanmantri fasal beema yojna check application status
pardhanmantri fasal beema yojna check application status
  • अब आप check status के ऑप्शन पर क्लिक कर दें।
  • जिसके बाद एप्लीकेशन फॉर्म की स्थिति आपके सामने स्क्रीन पर आप देख सकेंगे।

PMFBY Beneficiary List देखने की प्रक्रिया

अगर आपने भी योजना का आवेदन किया है और आप भी अपना नाम सूची में देखना चाहते है तो सरकार ने लाभार्थी लिस्ट official website पर जारी कर दी है। आप दोनों offline या online application process से अपना नाम देख सकते है। अपना नाम देखने के लिए निचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें।

  • आवेदक को Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना है।
  • यहाँ आपके सामने home page खुल जायेगा।
  • होम पेज पर आपको Beneficiary Farmer List के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपके सामने नया पेज खुलेगा, यहाँ आपको अपना राज्य, जिला, ब्लॉक को सेलेक्ट करना है।
  • अब आप submit के ऑप्शन पर क्लिक कर दें।
  • क्लिक करने के पश्चात आपके समाने लाभार्थी के नाम की लिस्ट स्क्रीन पर आपको दिखाई देगी।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से जुड़े पूछे जाने वाले प्रश्न और उसके उत्तर

बीमा क्या है?

बीमा एक बड़ा अप्रत्याशित नुकसान की छोटी संभावना से आपकी रक्षा करने का एक उपकरण है। यह लोगों को जोखिम को स्थानांतरित करने और साझा करने का एक साधन प्रदान करने की एक तकनीक है, जहां कुछ लोगों को नुकसान उठाना पड़ता है, जो समान जोखिमों के संपर्क में आने वाले कई लोगों द्वारा किए गए छोटे योगदान के माध्यम से संचित धन से होते हैं। बीमा पैसा कमाने का एक साधन नहीं है, बल्कि किसी व्यक्ति या व्यवसाय को अप्रत्याशित नुकसान की भरपाई करने में मदद करने का एक उपकरण है जो अन्यथा वित्तीय आपदा का कारण बन सकता है।

फसल बीमा क्या है?

फसल बीमा कृषकों को अनिश्चितताओं के कारण होने वाले वित्तीय नुकसान से बचाने का एक साधन है, जो फसल की विफलताओं / नामित या उनके नियंत्रण से परे सभी अप्रत्याशित खतरों से उत्पन्न होने वाली हानियों से उत्पन्न हो सकता है।

पीएमएफबीवाई का उद्देश्य?

प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना (पीएमएफबीवाई) का उद्देश्य कृषि क्षेत्र में स्थायी उत्पादन का समर्थन करना है – क) अप्रत्याशित घटनाओं से होने वाली फसल हानि / क्षति से पीड़ित किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करना ख) किसानों की आय को स्थिर करना ताकि उनकी निरंतरता सुनिश्चित हो सके। खेती में ग) किसानों को नवीन और आधुनिक कृषि पद्धतियों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करना घ) कृषि क्षेत्र में ऋण का प्रवाह सुनिश्चित करना; जो किसानों को उत्पादन जोखिमों से बचाने के अलावा खाद्य सुरक्षा, फसल विविधीकरण और कृषि क्षेत्र की वृद्धि और प्रतिस्पर्धात्मकता में योगदान देगा।

मौसम आधारित फसल बीमा क्या है?

मौसम आधारित फसल बीमा का उद्देश्य बीमित किसानों को वर्षा, तापमान, पाला, आर्द्रता आदि जैसे मौसम के प्रतिकूल परिस्थितियों की घटनाओं के परिणामस्वरूप प्रत्याशित फसल हानि के कारण वित्तीय नुकसान की संभावना के विरुद्ध कठिनाई को कम करना है।

फसलों का कितना कवरेज?

 खाद्य फसलें (अनाज, बाजरा और दलहन), 2) तिलहन, 3) वार्षिक वाणिज्यिक / वार्षिक बागवानी फसलें

बीमित राशि/कवरेज सीमा क्या हैं?

ऋणी और गैर-ऋणी दोनों किसानों के लिए प्रति हेक्टेयर बीमा राशि जिला स्तरीय तकनीकी समिति द्वारा तय किए गए वित्त के पैमाने के समान और बराबर होगी, और एसएलसीसीसीआई द्वारा पूर्व-घोषित और अधिसूचित की जाएगी। वित्त के पैमाने की कोई अन्य गणना लागू नहीं होगी। व्यक्तिगत किसान के लिए बीमा राशि प्रति हेक्टेयर वित्त के पैमाने के बराबर होती है जो किसान द्वारा बीमा के लिए प्रस्तावित अधिसूचित फसल के क्षेत्रफल से गुणा की जाती है। ‘खेती के तहत क्षेत्र’ हमेशा ‘हेक्टेयर’ में व्यक्त किया जाएगा। 2. सिंचित और असिंचित क्षेत्रों के लिए बीमा राशि अलग-अलग हो सकती है।

फसल बीमा प्रदान करने वाली कितनी कंपनियां हैं?

  • कृषि बीमा कंपनी
  • चोलामंडलम एमएस जनरल इंश्योरेंस कंपनी
  • रिलायंस जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड
  • बजाज आलियांज
  • फ्यूचर जेनराली इंडिया इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड
  • एचडीएफसी एर्गो जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड
  • इफको टोकियो जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड
  • यूनिवर्सल सोम्पो जनरल इंश्योरेंस कंपनी
  • आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड
  • टाटा एआईजी जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड
  • एसबीआई जनरल इंश्योरेंस
  • यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी

मैं अपनी पीएम फसल बीमा योजना स्टेटस कैसे चेक कर सकता हूं?

1800-180-1551 पीएम फसल बीमा योजना विभाग का टोल फ्री नंबर है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना कब शुरू हुई थी?

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 18 फरवरी 2016 को प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गई थी। 21 राज्यों ने इस योजना को खरीफ 2016 में लागू किया था जबकि 23 राज्यों और 2 केंद्र शासित प्रदेशों ने रबी 2016-17 में इस योजना को लागू किया था।

पीएमएफबीवाई में प्रीमियम की गणना कैसे की जाती है?

किसानों द्वारा देय अधिकतम प्रीमियम सभी खरीफ खाद्य और तिलहन फसलों के लिए 2%, रबी खाद्य और तिलहन फसलों के लिए 1.5% और वार्षिक वाणिज्यिक/बागवानी फसलों के लिए 5% होगा। किसानों द्वारा देय प्रीमियम और बीमा शुल्क की दर के बीच का अंतर केंद्र और राज्य द्वारा समान रूप से साझा किया जाएगा।

फसल बीमा लिस्ट में नाम कैसे चेक करें?

अपना नाम देखने के लिए आपको सरकार की वेबसाइट pmfby.gov.in को ओपन करना होगा उसके बाद application status के ऑप्शन को सेलेक्ट करना है फिर लिस्ट देखने का फॉर्म खुलेगा जिसमे जिसमे पूँछे गए सभी जानकारी को भरकर search status के ऑप्शन को सेलेक्ट करे फिर सभी लाभार्थी की लिस्ट खुल जाएगी जिसमे अपना नाम देख सकते

फसल बीमा की राशि कब मिलेगी?

बीमा क्लेम एक हजार रुपये से कम होने पर अंतर की राशि राज्य सरकार की ओर से मिलाकर किसान को दी जाएगी। बीमा योजना के तहत खरीफ-2020 और रबी 2020-21 के लिए 49 लाख दावे प्राप्त हुए हैं। उन सभी को बीमा राशि मिलेगी। जिन किसानों की फसल खरीफ 2021 में ओलावृष्टि से क्षतिग्रस्त हुई है, उन्हें भी जल्द ही 25 प्रतिशत बीमा राशि दी जाएगी।

Leave a Comment